AMIT LEKH

Post: आनंद मोहन ने बिहार के लिये मांगा रेल मंत्रालय, लवली आनंद बनी है जदयू कोटे से शिवहर सांसद

आनंद मोहन ने बिहार के लिये मांगा रेल मंत्रालय, लवली आनंद बनी है जदयू कोटे से शिवहर सांसद

विशेष ब्यूरो बिहार दिवाकर पाण्डेय की रिपोर्ट :

जेडीयू से तीन या चार नेता मोदी मंत्रिपरिषद 3.0 में शामिल हो सकते हैं

न्यूज डेस्क, राजधानी पटना

दिवाकर पाण्डेय

– अमिट लेख
पटना, (ए. एल. न्यूज़)। केन्द्र में एनडीए सरकार के गठन से पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के नेता आनंद मोहन ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने रेलवे मंत्रालय बिहार को देने की मांग कर दी है। आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद शिवहर से लोकसभा का चुनाव जीतकर जेडीयू की सांसद बनी हैं। बाहुबली पूर्व सांसद ने कहा कि रेल मंत्रालय का बिहार पर हक है। पूर्व में भी कई बार बिहार से रेल मंत्री रह चुके हैं। ऐसे में इस बार भी यह मंत्रालय बिहार को ही मिलना चाहिए। पूर्व सांसद आनंद मोहन ने शुक्रवार को दिल्ली में मीडिया से बातचीत में यह बयान दिया। उन्होंने कहा कि रेलवे को सबसे ज्यादा राजस्व बिहार से ही मिलता है। बिहार के लोग बड़ी संख्या में ट्रेनों में सफर करते हैं। झारखंड के अलग होने से पहले माल ढुलाई के मामले में भी सबसे ज्यादा कमाई रेलवे की बिहार से ही होती थी। बिहार से जगजीवन बाबू से लेकर रामविलास पासवान और नीतीश कुमार तक कई नेता रेल मंत्री रह चुके हैं। उनके जो काम अधूरे रह गए, उन्हें पूरे करने के लिए इस बार बिहार को रेल मंत्रालय चाहिए। बता दें कि बीजेपी को इस चुनाव में पूर्ण बहुमत न मिलने की स्थिति में उसकी जेडीयू, टीडीपी जैसे दलों पर निर्भरता बढ़ गई है। जेडीयू नेताओं का मानना है कि ऐसे हालात में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केंद्र से अच्छी मोलभाव की स्थिति में हैं। हालांकि, सीएम नीतीश ने कहा कि पीएम मोदी जैसा कहेंगे, वैसे ही सब काम करेंगे। मगर जेडीयू की नजर रेलवे जैसे अहम मंत्रालयों पर टिकी हुई है। जेडीयू से तीन या चार नेता मोदी मंत्रिपरिषद 3.0 में शामिल हो सकते हैं। हालांकि, इनके नामों पर अभी विचार नहीं हुआ है। लोकसभा चुनाव 2024 में जेडीयू ने बिहार में 16 सीटें लड़कर 12 पर जीत दर्ज की है। आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद ने शिवहर लोकसभा सीट पर आरजेडी की रितु जायसवाल को मात दी।

Leave a Reply

Recent Post