AMIT LEKH

Post: गंडक प्रोजेक्ट की विद्युत व्यवस्था भगवान भरोसे

गंडक प्रोजेक्ट की विद्युत व्यवस्था भगवान भरोसे

जिला ब्यूरो नसीम खान “क्या” की रिपोर्ट :

विद्युत बोर्ड ने वैकल्पिक विद्युत आपूर्ति करने से मना किया

पिछले 9 दिनों से नेपाल से मिलने वाली विधुत आपूर्ति है ठप

न्यूज़ डेस्क, बगहा पुलिस जिला

नसीम खान “क्या”

– अमिट लेख

बगहा, (ए. एल. न्यूज़)। जलसंसाधन विभाग गंडक प्रोजेक्ट में विधुत व्यवस्था पूरी तरह से धरासायी हो गई है। बतादें वाल्मीकिनगर स्थित गंडक प्रोजेक्ट में विद्युत आपूर्ति नेपाल से की जाती है।

फोटो : नसीम खान “क्या”

लेकिन नेपाल से मिलने वाले विधुत लाइन गंडक बराज स्थित 36 नम्बर चौक के समीप 4 पोल ट्रांसफार्मर के ऊपर विशालकाय सेमल का पेड़ एक जून को आए तूफान में गिर गया था। जिसके बाद से 48 घंटे ब्लैकआउट रहने के बाद बिहार सरकार इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड से वैकल्पिक व्यवस्था से गंडक बराज सहित दूसरे कार्य निष्पादन किए जा रहे थे। लेकिन तीन दिन बिजली आपूर्ति करने के वैकल्पिक व्यवस्था के बाद रविवार से बिजली बोर्ड ने बिजली देने से मना कर दिया है। इधर नेपाल से बिजली एक जून से बंद है। जिस वजह से वाल्मीकिनगर स्थित गंडक प्रोजेक्ट बिजली विहीन हो गया है। जिसका सीधा असर प्रोजेक्ट के कार्य निष्पादन पर पड़ेगा। सूत्रों की माने तो गंडक प्रोजेक्ट की इकाई मेकैनिकल सह इलेक्ट्रिकल के शीर्ष कार्यालय पदाधिकारी कार्यपालक अभियंता डूबल चार्ज की वजह से वाल्मीकिनगर में कम और छपरा में ज्यादा व्यस्त रहते हैं । जिस वजह से नेपाल सरकार को विधुत आपूर्ति सुचारू के लिए पत्राचार नहीं हो पा रहा है।जिस कारण जो इस कार्य मे लगने वाले तीन दिन के समय के बजाय 9 दिन हो गए है लेकिन कछुआ गति से हो रहे मरम्मती कार्य को देखते हुए लग रहा है कि अभी दस दिन और लगेंगे। गंडक प्रोजेक्ट बिजली कर्मचारियों का सहयोग नेपाल के बिजली प्राधिकरण ने लेने से मना कर दिया है। अगर दोनों तरफ के बिजली कर्मचारी मिल कर कार्य करते तो दो से तीन दिन में बिजली आपूर्ति बहाल हो जाती।

Leave a Reply

Recent Post